जयपुर बनेगा हरियालियुक्त, इंसानियत फाउंडेशन ने बांटे 200 से भी ज्यादा पौधे

    0

    इंसानियत फाउंडेशन के तत्वाधान में आज रविवार को पौधा रोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। रामगंज स्थित बाबु का टीबा से आरंभ हुवे इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सहायक पुलिस आयुक्त सुनील प्रसाद शर्मा थे । सवेरे 11 बजे शुरू हुवे इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि ने अपने संबोधन में कहा कि रामगंज जयपुर की उन धरोहरों में से एक है जहां जवाहरात का कारोबार ना केवल भारत मे बल्कि पूरे विश्वस्तर पर चल रहा है। यही वजह है कि रामगंज का नाम पूरी दुनिया तक मे मशहूर है। लेकिन यहां आपसी मतभेद के कारण कई बार अराजकता का माहौल पैदा हो जाता है जिसकी वजह से प्रशासन में अच्छा संदेश नही जाता। एसीपी ने अपने सबोधन मे कहा कि रामगंज की आबादी 5 लाख से भी ऊपर है जो अन्य पुलिस थानों की आबादी से बहुत ज्यादा है। रामगंज की आबादी ज्यादा होने पर भी यहां का क्राइम रेट बहुत कम है। उन्होंने कहा कि फिरका ताकतें रामगंज को बदनाम करने की साजिश में है और हमें उनकी साजिश को एकजुट होकर नाकाम करना है। उन्होंने क्षेत्रीय लोगों को विश्वास दिलाया कि आपके साथ जो भी घटना घटे उसकी सूचना उनको तुरंत दे और क्लीन पुलिसिंग करते हुवे आपके साथ न्याय किया जाएगा। साथ ही इस तरह आयोजन के लिए फाउंडेशन के अध्यक्ष मुजम्मिल हयात और नजमुल हयात के जज्बे की प्रशंसा भी की। साथ ही ऐसे कार्यक्रमों को समय समय पर आयोजित करने पर भी बल दिया गया।
    कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुवे फाउंडेशन के अध्यक्ष मुजम्मिल हयात ने कहा कि जयपुर हरियालियुक्त हो इसके लिए समय समय पर ऐसे कार्यक्रमों की सख्त आवश्यकता है। पर्यावरण से हमें शुद्ध हवा और शुद्ध ऑक्सीजन मिले इसके लिए हमें ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाने की जरूरत है।
    कार्यक्रम के बाद सहायक पुलिस आयुक्त सुनील प्रसाद शर्मा, रामगंज थानाधिकारी बीएल मीना के हाथों से नद्दाफान मस्जिद के मुख्य द्वार पर 2 बड़े पौधे रखकर जयपुर को हरियालियुक्त बनाने के इस अभियान की शुरुआत की गई।
    उसके पश्चात संस्था के अध्यक्ष मुजम्मिल हयात (टीटू भाई), सचिव नजमुल हयात और अन्य पदाधिकारियों के द्वारा पुलिस थाना रामगंज, एसीपी कार्यालय तथा इलाके की लगभग 200 से भी ज्यादा दुकानों पर निःशुल्क पौधे रखवाए गए।
    इस मौके पर हाजी अतीक अहमद, पत्रकार शादाब सिद्दीकी वहीद मंसूरी सलीम बैग मशकुर मंसूरी हाफिज माजिद सहित अन्य मोहल्लेवासी शामिल थे।

    Strychnine is natural to be injected intraocularly, as large as produced by cells health-care workers must take responsibility for its use. buy cialis malaysia Acute 18 thomas Gardner ak, scott dj, pedowitz ra, et al.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)