आमेर इलाके में बच्चे की हत्या मामला

0


प्लास्टिक के कट्टे में हाथ पैर बांध कर जयसिंहपुरा खोर में फेंकी गई थी लाश
मृतक अर्सलान 11 निवासी नाई की थड़ी 15 जनवरी को घर से हुआ रहा लापता मामले में 3 आरोपी गिरफ्तार, फिरौती के मकसद से हुई थी हत्या।

शहर के आमेर इलाके में 3 दिन पहले पतंग उड़ाते वक्त लापता हुए 11 साल के एक बच्चे की हत्या कर दी गई। बच्चे का शव सोमवार को उसके घर से कुछ दूर एक सूने मकान में प्लास्टिक की बोरी में मिला। मामले में पुलिस ने तीन युवकों को हिरासत में लिया है। इसमें से आसिफ ने वारदात करना कबूल किया। जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है।आरोपी आसिफ ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वो पतंग दिलाने के बहाने अरसलान कुरैशी को साथ ले गया था। बच्चे को मारने का इंटेंशन नही था। वो सिर्फ बच्चे को अगवा कर उसके पिता से पैंसे मांगना चाहता था, लेकिन इससे पहले ही बच्चे की मौत हो गई।ऐसे हुई मौतपूछताछ में आरोपी ने बताया कि 15 जनवरी को दिन में 2 बजे आसिफ को अपने साथ ले गया था। जिसके बाद उसके हाथ-पैर बांधकर और मुंह में कपड़ा ठूसकर 2 किलोमीटर दूर एक अर्धनिर्मित खाली प्लॉट के मकान में पटक दिया। शाम को 7 बजे जाकर देखा तो बच्चे की मौत हो गई थी। जिसके बाद शव को मकान की छत पर रखकर उस पर ईंटें जमा दी।ऐसे हुआ खुलासापुलिस ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद टीम का गठन कर जांच शुरू की गई। तलाश में सामने आया कि मृतक को आखिरी बार आसिफ के साथ देखा गया था। इसके बाद आसिफ को हिरासत में लिया गया। पूछताछ के दौरान उनके अपना गुनाह कबूल लिया।घर पर पतंग उड़ाते वक्त हुआ था लापताडीसीपी नॉर्थ परिस देशमुख और एडिश्नल डीसीपी सुमित गुप्ता ने बताया कि फ्रेंड्स कॉलोनी, नाई की थड़ी के रहने वाले मोहम्मद शकील का बेटा अरसलान कुरैशी 11 साल का था। वह दूसरी कक्षा का छात्र था। 15 जनवरी को करीब दोपहर 1 बजे घर पर पतंग उड़ा रहा था। तब परिजन भी घर में थे। उसके पिता के मुताबिक, अचानक करीब 1 घंटे बाद उनका बेटा अरसलान गायब हो गया। वह नजर नहीं आया तब उसे आसपास काफी जगह तलाश किया। कॉलोनी में रहने वाले अरसलान के दोस्तों व पड़ोसियों से पूछा। लेकिन बच्चे का पता नहीं चला। तब मोहम्मद शकील ने आमेर थाने में अपहरण का केस दर्ज करवाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)